ऑनलाइन डेटिंग : ये इश्क नहीं आसां…
टेक्नोलॉजी के इस दौर में आज जब सारी दुनिया ऑनलाइन हो चुकी है, खाने से लेकर घूमना भी वर्चुअल हो चूका है. ऐसे में सबसे ज्यादा हाइक मिला है सोशल साइट्स को.
जहाँ पहले लोगो का दायरा सीमित था, इन्टरनेट ने उसे वर्ल्डवाइड कर दिया है. जिस तरह से सोशल साइट्स का  क्रेज बढ़ रहा है, उतना ही लोग अकेले होते जा रहे हैं. जैसे-जैसे स्मार्ट फोन का उपयोग बढ़ रहा है, वैसे ही कई तरह के एप्स भी तेजी से बाजार में आ रहे हैं. और फिलहाल ट्रेंड चल रहा है डेटिंग एप्स का. डेटिंग एप्स जहाँ आप प्यार पा सकते हैं. ये एप्स बहुत से लोगों की पसंद बन चुके हैं. जिनके पास प्यार है पर प्यार करने वाला कोई नहीं. डेटिंग एप्स ऐसे लोगो के लिये फ़रिश्ता बन कर उभरे हैं.
इन डेटिंग साइट्स के एप्स के जरिए आप अपने जैसे ही दूसरे लोगों से फ्रेंडशिप कर सकते हैं, रिश्ते बना सकते हैं. और अगर आप लकी हुए तो आप इनके जरिये अपना सच्चा प्यार भी पा सकते हैं.
 अपनी बढ़ती लोकप्रियता के साथ इन डेटिंग एप्स  का बिज़नस भी काफी फल फूल रहा है.
तो बात ये है की क्या इस तरीके से आपको प्यार मिल पाएगा?
ऑनलाइन डेटिंग के जरिये मारा गया क्यूपिड का तीर निशाने लगेगा या आपको सताएगा?
तो आइये जानते हैं डेटिंग एप्स के नुक्सान और फायदों के बारे में.
प्यार की खोज: आप अकेले रहते तंग आ चुके हैं? और अब किसी का साथ चाहते हैं तो यह काफी मददगार साबित हो सकता है. इन साइट्स पर आपको कई साथी मिलेंगे जो आपकी  जरूरतों से मेल खाते हैं.
लेकिन ऑनलाइन डेटिंग साइट्स आपको ऐसा प्लेटफोर्म देती हैं जहा लोग आपसे झूठ बोल कर खुद को आपके मुताबिक बता सकते हैं. ऐसे में  जरा सम्हल कर दोस्तो का चुनाव करें.
कॉन्फिडेंस लेवल बूस्टिंग: ऑनलाइन डेटिंग आपके आत्मविश्वास को बढ़ाती है.यहाँ आप किसी से भी बेझिझक बातें कर सकते हैं, खुद को शेयर कर सकते हैं.
फील गुड फैक्टर: एक सर्वे के मुताबिक अपोजिट जेंडर से अच्छी बातचीत आपके ब्रेन में ख़ुशी देने वाले होर्मोन्स को बढाती है.
इंडीविसुअल चॉइस : ऑनलाइन डेटिंग का एक बेहद अच्छा फायदा यह भी है की आप अपनी पसंद के मुताबिक लोगो से मिल सकते हैं. बात कर सकते हैं. आप सीरियस रिलेशनशिप चाहते हैं या बस कुछ हुक अप्स, तो  आप इन्हें डेटिंग एप्स पर फ़िल्टर कर सकते हैं.
पर इनके साथ ही आपको जरुरत है सजग रहने की. जहाँ आप इन एप्स पर अपनी जानकारी देते हैं, वही इन जानकारियों के मिसयूज़ होने के चान्सेस भी रहते हैं.
इस लिये ध्यान रखें –
दोस्ती बढ़ाने से पहले सामने वाले को सही तरह से परख लें : इस बात की पुष्टि कर लें की आप किसी फेक ID से नहीं बात कर रहें.
आपके ऑनलाइन दोस्त की सोशल साइट्स की प्रोफाइल पर भी आप उनके बारे में जान सकते हैं.
अपनी पर्सनल जानकारी न दें: अपनी प्रोफाइल पर अपनी निजी जानकारी देने से बचे. घर का नंबर, प्राइवेट या प्रोफेशनल जानकारी के माध्यम से इनके मिसयूज़ के कई मामले देखने आते हैं.
डेटिंग साइट्स में फेक आइड़ीज़ से बचे.
किसी प्राइवेट जगह में मिलने न जाये.
वीडियो चैट के दौरान सतर्क रहें.
tinder

Leave a Reply